कांग्रेस के गढ़ में क्या बीजेपी इस बार भी कमल खिलाएगी!

पश्चिमी दिल्ली सीट पर पूर्वांचली-पंजाबी और सिख वोटर तय करेंगे गणित

संसदीय और विधानसभा क्षेत्रों का अस्तित्व 2008 में में आई

सुनील मिश्रा नई दिल्ली : पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट का चुनावी गणित काफी रोचक है। इस सीट पर पूर्वांचली वोटरों, अनाधिकृत कालोनियों की समस्याएं और पंजाबी तथा जाट वोटरों का गणित तय करेगा जीत का समीकरण।

यहां से बीजेपी ने दिल्ली के पूर्व सीएम साहिब सिंह वर्मा के बेटे प्रवेश वर्मा को दोबारा मौका दिया है। प्रवेश वर्मा 2014 में भी यहां से जीतकर सांसद बने थे। कांग्रेस ने मुकाबले के लिए पूर्व सांसद महाबल मिश्रा को मौका दिया है। वहीं आम आदमी पार्टी ने बलबीर जाखड़ को उतारा है।

सांसद निधि का लेखा जोखा

जनवरी, 2019 तक mplads.gov.in पर मौजूद आंकड़ों के मुताबिक, बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने अभी तक अपने सांसद निधि से क्षेत्र के विकास के लिए 26.65करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

उन्हें सांसद निधि से अभी तक 30.67 करोड़ (ब्याज के साथ) मिले हैं. इनमें से 2.65 करोड़ रुपये अभी खर्च नहीं किए गए हैं. उन्होंने जारी किए जा चुके रुपयों में से 90.24 फीसदी खर्च किया है.

पश्चिमी दिल्ली संसदीय क्षेत्र के तहत मादीपुर, राजौरी गार्डन, हरि नगर, तिलक नगर, जनकपुरी, विकासपुरी, उत्तम नगर, द्वारका, मटियाला और नजफगढ़ के इलाके आते हैं। 2014 के चुनाव में यहां से प्रवेश वर्मा को 6,51,395 वोट मिले थे। वहीं दूसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी के जरनैल सिंह रहे थे जिन्हें 3,82,809 वोट मिले थे। महाबल मिश्रा को 1,93,266 वोट मिले थे और वे तीसरे नंबर पर रहे थे। 2009 में इस सीट से महाबल मिश्रा ने चुनाव जीता था। यह क्षेत्र शुरू से ही कांग्रेस का गढ़ रहा है।

संसदीय और विधानसभा क्षेत्रों का अस्तित्व 2008 में में आई।  2008 से पहले इसे आंशिक रूप से बाहरी दिल्ली संसदीय क्षेत्र में और आंशिक रूप से दक्षिण दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में शामिल किया गया था। इस तरह यह एक काफी नया निर्वाचन क्षेत्र है।

भारतीय निर्वाचन आयोग 2009 की रिपोर्टों के मुताबिक, पश्चिमी दिल्ली संसदीय निर्वाचन क्षेत्र (निर्वाचन क्षेत्र संख्या 6) में कुल 1,687,727 मतदाता हैं, जिनमें से 767,521 महिलाएं और 920,206 पुरुष हैं.

यह दिल्ली के सबसे समृद्ध और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में से एक है, जिसमें 25,43,243 लोगों रहते हैं. जिसमें जनसंख्या घनत्व प्रति वर्ग किलोमीटर 19,563 का अनुमान है.

इस संसदीय क्षेत्र में 10 विधानसभा क्षेत्र हैं। जिसमें मादीपुर, जनकपुरी, द्वारका, राजौरी गार्डन, विकासपुरी, हरिनगर, उत्तम नगर, नज़फगढ़, मटिआला और तिलक नगर शामिल हैं।  इस क्षेत्र में दिल्ली के जनकपुरी, तिलक नगर, पंजाबी बाग और पटेल नगर जैसे विशाल आवासीय और वाणिज्यिक क्षेत्र  आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.