बीमार यमुना के शहर दिल्ली में पानी का सुखा

Rajeev Tiwari, New Delhi : सिर पर सुरज और गले में प्यास, कुछ इसी तरह है दिल्ली में पानी और धूप। मतलब यह कि एक तो प्रचंड गर्मी से लोग त्रस्त है और ऊपर से पानी की गम्भीर समस्या है। हालात ये है कि महिलाओं को पानी लाने के लिए दूर दूर से पानी भरकर लाना पड़ रहा है। यह विकराल  समस्या पहाड़ गंज के नबी करीम में  ज्यादा है।

निचे जो हम वीडियो का लिंक दे रहें हैं वह जरुर देखिएगा। कैसे देश की आधी आबादी पानी के लिए झक मार रही है तो नौनिहाल अपनी पढ़ाई छोड़कर पानी के इंतजार में घंटो से लाइन लगाकर खड़े हैं। हालात तो यह है कि कई घंटे खड़ी रहने के बाद  वो खुद रिक्शा में पानी की टंकी को लेकर धक्का मारती परिवार के लिए पानी ले जा रही है ताकि उनकी प्यास बुझ सके ये वो आधी आबादी है जिसके लिए दिल्ली सरकार बस ओर मेट्रो में फ्री सुविधा देने जा रही है।

स्थानिय निवासी रूबी का कहना है कि सरकार का पता नही जी कि वो कर क्या रहीं हैं। हम तो अपने बच्चों को पानी कि वजह से पढ़ाई तक छुड़वा दिए है। और लोगो का  यह भी कहना है कि बोरिंग में भी पानी नही आ रहा और अगर आता है तो बहुत गंदा।

फिर मोहम्मद इरशाद  जो पानी के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं वो भी इस बात पर काफी परेशान है। इरशाद कहते हैं कि अब आप जरा समझिए कि उस  नजारे को जब छोटे छोटे बच्चे  पानी को कंधे पर रख कर कई सौ मीटर अपने घर ले जाने को मजबूर है। जिन हाथों में कलम कॉपी होनी चाहिए उनके कंधों पर पानी का बोझ आ गया है
पानी को लेकर लोगो मे कितना गुस्सा है इसका आप अंदाजा इसी बात से लगा सकते है कि इलाके की महिलाओं ने अब किसी को वोट नही देने की कसम खा ली है । पानी नहीं तो वोट नही वोट देकर भी यही हाल है तो फिर वोट देने का क्या फायदा ये है दिल्ली की उन महिलाओं का दर्द लेकिन नेताओं को कोई फिक्र नही है फिक्र है तो बस अपनी नेतागिरी की

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.