दिल्ली में एक जंगल बनाना मेरा सपना – ग्रीन सिद्दि

सिद्धि पॉवर्ड बाइ ह्यूमेनिटी और सीआरपीएफ अधिकारी शुरू  करेंगे पर्यावरण अभियान

Sunil Misra Netvani :- सिद्धि पॉवर्ड बाइ ह्यूमेनिटी एक गैर लाभकारी आध्यात्मिक संगठन ने सीआरपीएफ मुख्यालय में सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ शुरू किया अपना सबसे बड़ा पर्यावरण अभियान – ग्रीन सिद्दि
सिद्धि की विचारधारा निस्वार्थ सेवा और एक अवधारणा अपने स्वयंसेवकों और सदस्यों को निःस्वार्थ भावसे समाज, पर्यावरण और ग्रह की सेवा में प्रोत्साहित करना है। सिद्धि पहलें से ही संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों से जुड़ी हैं। सिद्धि की संस्थापक डॉ. मीना महाजन पर्यावरण के संरक्षण से बेहद संवेदनशील हैं। वह कहती हैं, “दिल्ली में एक जंगल बनाना मेरा सपना है, जिसे हम जल्द ही पूरा करेंगे।” जिसे ग्रीन सिद्दि के नाम से जाना जाता है।
इस साल की पहल सीआरपीएफ मुख्यालय, दिल्ली में कुछ सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ मिलकर शुरू हुई। आईजी विक्रम सहगल को सिद्धि द्वारा किए गए काम से खुश होकर उन्होंने कहा, “पर्यावरण रक्षा के लिए अधिकसंवेदनशीलता की जरूरत है और सिद्धि जैसे अनेक संगठनों को उत्थान के क्षेत्रों में निस्वार्थ भाव से काम करने आना चाहिए।” सिद्धि के छोटे स्वयंसेवकों ने अधिकारियों को बेकार पड़ी चीजों से दैनिक उपयोग की सामग्री बनाकर यह संदेश फैलाया कि सब रिसाइकल किया जा सकता है।
विश्व पर्यावरण दिवस पर दिल्ली एवं एनसीआर में 5000 घरों में पौधे वितरित करेंगे, ग्रीन वाटर कैम्प, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, शहर भर में वृक्षारोपण, स्थिरता और जलवायु परिवर्तन पर सम्मेलन आयोजित किया जायेगा, ग्रीन वॉक करायी जायेगी ! पिछले साल सिद्धि ने 5 घंटे में 10,000 पेड़ लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। सिद्धि सिर्फ वृक्षारोपण ही नहीं करती, बल्कि यह संस्था पौधों की देखभाल भी करती है।
सिद्धि को सभी क्षेत्रों में उनके द्वारा किए गए कार्यों के लिए कई पुरस्कार और सम्मान मिल चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.